थिंक सेक्स, टाॅक सेक्स

ट्रेडीशनल अप्रोच सेक्स के बारे में ज्यादा सोचने या डिस्कस करने को हेल्दी और मोरल नहीं मानती है, लेकिन साइंटिफिक रिसर्च का कहना है कि रिलेशनशिप को मजबूत बनाने के लिए ये दोनों ही चीजें बहुत जरूरी हैं.रिसर्च के अकाॅर्डिंग, जो कपल्स सेक्सुअल डिस्कसन को लेकर एक-दूसरे से ओपेन होते हैं, वे ईजीली कोई भी बात शेयर कर पाते हैं, क्योंकि इस तरह का डिस्कसन उनके बीच एक अच्छी अंडरस्टैंडिंग डेवलप करने में हेल्प करता है.

azone

तीन पार्ट्स में कंडक्टेड इस रिसर्च में पहले फेज में पार्टिसिपेंट्स से ऐसे प्लेसेज के बारे में पूछा गया, जहाँ वे फर्स्ट डेट पर गए थे. सवाल-जवाब के दौरान उनके सामने रैपिडली चेंज हो रही पिक्चर्स भी डिस्प्ले की गयी, जिन पर ध्यान दे पाना पार्टिसिपेंट्स के लिए मुश्किल हो रहा था. इन पिक्चर्स में उनके पार्टनर की न्यूड स्नैप्स भी शामिल की गई थीं. इसके बाद उन्हें बताना था कि वे अपने पार्टनर के प्रति कैसे अट्रैक्ट हुए थे.

अगले हिस्से में आधे पार्टिसिपेंट्स को फिल्मों के सेक्स सीन और बाकी आधों को कैट बिहेवियर पर बेस्ड वीडियो देखने के लिए कहा गया. इसके बाद सभी से कहा गया कि वे अपने पार्टनर्स से आँखें मिलाकर उनके देखे वीडियोज को डिस्क्राइब करें. रिसर्च के तीसरे और लास्ट पार्ट में पार्टिसिपेंट्स से ऐसे वीडियोज देखने के लिए कहा गया, जिनमें में कपल्स को सेक्सुअल डिस्कसन में इन्वाॅल्व्ड दिखाया गया था. इसके बाद उनसे अपने पार्टनरों को देखे गए डिस्कसन के बारे में बात करने के लिए कहा गया.

रिसर्च में पार्टिसिपेंट्स को ऑप्शन दिया गया कि वे अगर किसी के साथ डेट पर जाना चाहे तो जा सकते हैं. इसमें देखा गया कि जो सेक्स के बारे में खुलकर बातें कर रहे थे, वे अपने पार्टनर्स के साथ बार-बार डेट पर जाने के इच्छुक थे, जबकि इसमें हिचकने वाले लोगों की रिलेशनशिप में इतना अटेचमेंट महसूस नहीं किया गया.

yes(0)no(0)
Filed in: A-zone

You might like:

Let’s Meet After the Break Let’s Meet After the Break
आपके कदमों का हिसाब आपके कदमों का हिसाब
तरह-तरह के इल्यूजन तरह-तरह के इल्यूजन
यह दिन कुछ खास है यह दिन कुछ खास है
© 0156 A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.