हर दिन हजार स्टोरीज

नारद जी की संवादशैली से लेकर सिटीजन जर्नलिज्म तक पत्रकारिता ने बहुत सारे दौर देखे हैं, लेकिन आने वाले समय में एक ऐसा दौर आ सकता है, जिसमें इंसानी खबरनवीस सिर्फ यादों में ही रह जाएंगे.

robot-new

गूगल की एक मिलियन डॉलर की फंडिंग से ब्रिटिश न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस, एक ऐसे रोबोट रिपोर्टिंग प्रोजेक्ट पर काम कर रही है, जिसमें कम्प्यूटर लोकल मीडिया के लिए हर महीने करीब 30 हजार न्यूज स्टोरीज लिखने में सक्षम होंगे.

‘रडार’ नाम के इस प्रोजेक्ट से लोकल ब्लाॅगर्स, पब्लिशरों और मीडिया ग्रुप्स को काफी फायदा होगा, लेकिन जर्नलिज्म से जुड़े लोगों के लिए , जो पहले ही घटती जाॅब्स से परेशान हैं, यह कोढ़ में खाज का काम करेगा.

हालांकि, एक्सपर्ट्स और इस प्रोजेक्ट से जुड़े लोग इसे ट्रेडीशनल जर्नलिज्म के लिए कोई खतरा नहीं मान रहे. उनके अकाॅर्डिंग यह सिर्फ डेटा सोर्स के ओपेन यूज को आसान बनाने के लिए है.

Filed in: Robotopia

You might like:

आ रहा है एसयूवीज का कारवां आ रहा है एसयूवीज का कारवां
हर दिन है खास हर दिन है खास
डाॅन्ट मिस इट… डाॅन्ट मिस इट…
लाइफ विदआउट सेक्स ? लाइफ विदआउट सेक्स ?
© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.