न भौंकेगे, न काटेंगे डिलीट योर अकाउंट बनाओ अपनी रिंगटोन चीटिंग  के  चांसेज रिश्ता ओके, शादी नॉट
इम्प्रूव योर इंग्लिश

इम्प्रूव योर इंग्लिश

रोड टू ग्रामर डाॅट काॅम : यह एक ऐसी साइट है, जो अंग्रेजी सीखने के इच्छुक लोगों के लिए बड़े काम की है. इसमें बच्चों से लेकर अंग्रेजी के टीचरों के… Read more »

इतनी संपदा का क्या करेंगे?

इतनी संपदा का क्या करेंगे?

मिलियन,बिलियन,ट्रिलियन तक तो आपने सुना होगा, लेकिन क्या क्वाड्रिलियन का मतलब जानते हैं? हिंदी में यह संख्या एक करोड़ शंख के बराबर होती है. अभी भी नहीं समझे ना? चलो… Read more »

खतरे में धरती

खतरे में धरती

तरह—तरह के कुदरती और इंसान के पैदा किए खतरों के बीच धरती के लिए एक और नया खतरा सामने आ चुका है. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने चेतावनी… Read more »

फेंटेसीज बूस्ट करती हैं ‘परफाॅर्मेंस’

फेंटेसीज बूस्ट करती हैं ‘परफाॅर्मेंस’

गुड इमेजिनेशंस सिर्फ आर्ट-लिटरेचर या साइंटिफिक इन्वेंशंस में ही नहीं, बल्कि हमारी सेक्स लाइफ में भी बूस्टर का काम करती हैं. एक रीसेंट स्टडी में रिवील हुआ है कि जो… Read more »

रोबोट हुए सयाने

रोबोट हुए सयाने

जैसे—जैसे रोबोटिक्स में एआई यानी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का दख बढ़ता जा रहा है, रोबोट्स और इंसानों के बीच का फर्क वैसे—वैसे कम होता जा रहा है.डेली स्टार की एक खबर… Read more »

एक जोक हो जाए

एक जोक हो जाए

टेल ए जोक डे ( 16 अगस्त ) : जोक्स तो आपने भी खूब सुने होंगे, सुनाए होंगे. लेकिन, क्या कभी आपने सोचा है कि आपको कुछ ही जोक्स क्यों… Read more »

हर दिन है खास

हर दिन है खास

हर दिन है खास ! यह काॅलम उन डेज को डेडिकेटेड है, जो दुनिया भर में बिना किसी डिस्क्रिमिनेशन के मनाए जाते हैं और हमें चड्ढी से लेकर बड्डी तक,… Read more »

हायपर लाइट ड्रिफ्टर

हायपर लाइट ड्रिफ्टर

इस सेगमेंट में आप हर हफ्ते पाएंगे कुछ ऐसे इंटरेस्टिंग और इनोवेटिव वीडियो गेम्स के बारे में जानकारी, जो रीसेंट मंथ्स में लाॅन्च किए गए हैं, या नेक्सट मंथ्स में… Read more »

शोले @ 45

शोले @ 45

आज से ठीक पैंतालीस साल पहले एक फिल्म आई थी…कोई नहीं जानता था कि एक विदेशी फिल्मों से प्रेरणा लेकर बनाई गई यह बदले की दर्जनों बार देखी जा चुकी… Read more »

भीड़ के बीच अकेला…

भीड़ के बीच अकेला…

सोशल मीडिया के बारे में अक्सर कहा जाता है कि इसने दुनिया को एक ग्लोबल विलेज में बदल दिया है या यह वसुधैव कुुटुम्बकम् की अवधारणा को साकार कर रहा… Read more »

© 1831 A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.