आईस एज में बदल जाएगा इंसान

क्लाइमेंट चेंज का असर धीरे-धीरे इंसानों के आकार पर भी पड़ेगा, और जिस शरीर के परफेक्शन पर वह घमंड से भरा रहता है, वह नया रूप ले लेगा. केंट यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ मैथ्यू स्कीनर ने दावा किया है कि नीयर फ्यूचर में आईस एज की शुरुआत के साथ-साथ इंसानों की हथेलियां और पंजे झिल्लीदार होने लगेंगे और उसमें गिल्स भी डेवलप हो सकते हैं.

mermaid_FotoSketcher

डॉ स्कीनर का कहना है कि बदले हुए क्लाइमेट में सरवाइव करने के लिए यह इंसान को नेचुरली वे में चेंज करने वाली प्रोसेस होगी. क्लाइमेंट चेंज से सी का लेवल राइज होगा और एक दिन इंसान को भविष्य में मछली की तरह पानी के अंदर ही रहना होगा. इन हालातों के हिसाब से खुद को ढालने की कोशिश उसे धीरे-धीरे एक वाटर क्रेचर में बदल देगी.

डॉ स्कीनर के अनुसार पहले पानी के अंदर रहने वाले इंसानों के सांस लेने के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई अपने बनाए गिल्स से होगी, इस पर डिपेंडेंस फेफड़े की जरूरत कम होती जाएगी और उसका बाॅडी स्ट्रक्चर सिकुड़ता जाएगा और उसका शेप बदल जाता है.

yes(0)no(0)
Filed in: Planet Next

You might like:

क्वांटम कम्युनिकेशन नेटवर्क से थमेगी हैकिंग ! क्वांटम कम्युनिकेशन नेटवर्क से थमेगी हैकिंग !
पानी को पाॅल्यूशन फ्री करेगा पाॅलीमर पानी को पाॅल्यूशन फ्री करेगा पाॅलीमर
यह दिन कुछ खास है यह दिन कुछ खास है
बारिश के लिए बनेगा पहाड़ बारिश के लिए बनेगा पहाड़
© 2018 A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.