जस्ट थिंक टू सेंड ए मैसेज

हिचकी आए और आप अंदाजा लगा लेते हैं कि कोई आपको याद कर रहा है. यह एक फेनोमिना हो सकता है, लेकिन फ्यूचर में वाकई ऐसा मुमकिन हो जाएगा कि आप किसी को याद करें और उसको बिना उसका मोबाइल चेक किए इमीडिएटली पता लग जाए कि आप उससे क्या कहना चाहते हैं.

magneto

स्पेन की बार्सिलोना यूनिवर्सिटी, फ्रांस के एग्जीलम रोबोटिक्स, हार्वर्ड मेडिकल स्कूल और स्टारलैब बार्सिलोना के साइंटिस्टों की टीम ब्रेन वेव सेंसिंग मशीन का इस्तेमाल कर टेलिपैथी से संदेश भेजने की प्रक्रिया पर काम कर रहे ही, जिसका एक सेमी सक्सेजफुल एक्सपीरिमेंट किया जा चुका है. अगर इसके एक्सपेक्टेड रिजल्ट मिलते हैं तो हम सिर्फ मैसेज को सोचेंगे और वह अपनी मंजिल तक पहुंच जाएगा.

एक्सपेरीमेंट में वैज्ञानिकों ने इलेक्ट्रोइनसेफलोग्राफी ( ईईजी) हेडसेट का प्रयोग कर दिमाग में ‘होला’ और ‘सियाओ’ कहने पर न्यूरॉन्स की गतिविधि में उसकी इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी को रिकॉर्ड किया और फिर इन्हें बाइनरी कोड में बदल कर दूसरे व्यक्ति के ब्रेन तक भेजा जिसने सिर्फ फीलिंग के जरिए इन्हें डीकोड कर लिया.

yes(0)no(0)
Filed in: Science & Tech.

You might like:

धरती को बचाएगा जापानी ‘जाल’ धरती को बचाएगा जापानी ‘जाल’
खतरे में मालदीव…और मुंबई भी खतरे में मालदीव…और मुंबई भी
गेमिंग गुरु: एवरीबाॅडी‘ज गोन टू द रैप्चर गेमिंग गुरु: एवरीबाॅडी‘ज गोन टू द रैप्चर
ताली बजाएं, फोन पाएं : क्लैप टू फाइंड ताली बजाएं, फोन पाएं : क्लैप टू फाइंड
© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.