हर दिन है खास

हर दिन है खास ! यह काॅलम उन डेज को डेडिकेटेड है, जो दुनिया भर में बिना किसी डिस्क्रिमिनेशन के मनाए जाते हैं और हमें चड्ढी से लेकर बड्डी तक, हमारी रोजमर्रा की लाइफ की छोटी-छोटी चीजों को सेलिब्रेट करना सिखाते हैं… इस काॅलम को रेगुलरली एडवांस में अपडेट किया जाता रहेगा, ताकि आप जिस दिन को एन्जाॅय करना चाहते हैं, उसके सेलिब्रेशन की तैयारियों के लिए एक-दो दिनों का वक्त मिल जाए.

Image courtesy : TBIT (Pixabay)

संडे, 5 जुलाई
आज का पहला दिन बिल्ड ए स्केअर क्रो डे है. अगर आप किसी गांव में गए होंगे तो इनसे मुलाकात हुई होगी, जो खेतों में खड़े हुए चिड़ियों को डराने और फसल के बचाने का काम बिना किसी पगार के करते हैं. आप इसका माॅडल बना सकते हैं, जो कि बेहद ईजी है. दूसरा दिन, एप्पल टर्नओवर डे है. यह मुरब्बे जैसी डिश होती है. एप्पल की स्लाइस बनाइए और उन्हें शुगर में डिप करके रखिए. कुछ घंटे बाद यह खाने के लिए तैयार हो जाएगी. बाकी के दो दिन बिकनी डे और मैकेनिकल पेंसिल डे हैं. इन्हें मनाने का तरीका इनके बारे में ज्यादा जानना ही हो सकता है.

सेटरडे, 4 जुलाई
आज का पहला दिन, इंडीपेंडेंस फ्रॉम मीट डे है. यह हमें नॉनवेज आइटम्स की बजाए वेज डिशेज एन्जॉय करने के लिए इन्स्पायर करने के लिए मनाया जाता है. आप इसमें हिस्सा ले सकते हैं और न्यूट्रीशन नीड्स पूरी करने के लिए गाजर, मूली, गोभी जैसी सब्जियां या पनीर आदि को मिलाकर बारबीक्यू डिश बनाकर खा सकते हैं. अगला दिन स्पेअरिब्स डे है. यह डिश कैसे बनती है, इसकी जानकारी आपको इंटरनेट पर मिल जाएगी. बनाइए और नये तरह का टेस्ट एन्जॉय कीजिए. खाने—पीने के ही दो दिन जैकफ्रूट डे और सीजर सलाड डे भी आज ही हैं तो जी भर कर खाइए और अगर लगे कि ज्यादा कैलोरी हो गई हैं तो अगला दिन होप ए पार्क डे आपको एनकरेज करता है कि पास के किसी पब्लिक पार्क में जाएं और कुछ देर रिलेक्स करें, ताजी हवा का मजा लें.

फ्राइडे, 3 जुलाई
आज के दिन बड़े दिलचस्प हैं. जैसे कि कम्पलीमेंट योर मिरर डे. हालांकि सेल्फी मैडनेस ने यंगस्टर्स को मिरर के सामने से हटाकर मोबाइल के सामने पहुँचा दिया है. लेकिन, फिर भी कंबिंग और मेकअप जैसे काम तो मिरर के सामने ही किए जाते हैं ना, इसलिए आज मिरर को थैंक्स बोल सकते हैं कि आप की सही सूरत आपको दिखाता है. ऐसा ही एक और दिलचस्प दिन डिसओबिडिएंस डे है. यानी किसी की बात न मानना. खासकर बच्चों को इसमें बड़ा मजा आता है. अगर आप बड़े हैं तो बच्चों को इस आजादी का मजा लेने दीजिए और बच्चे हैं तो इस आजादी का मजा लीजिए. अगला दिन थोड़ा काॅज से जुड़ा है, यह है इंटरनेशनल प्लास्टिक बैग फ्री डे. इसे मनाना बहुत आसान है, बाजार से कुछ भी लेने जा रहे हों तो अपना घर का कैनवास या जूट का बैग लेकर जाएं और प्लास्टिक कैरी बैग का यूज न करें. इसे एक हैबिट बनाने की कोशिश कर सकते हैं तो यह एन्वायर्नमेंट को आपका एक बड़ा कंट्रीब्यूशन होगा. लास्ट में है स्टे आउट आॅफ द सन डे है. हम हिंदुस्तानी तो वैसे ही ज्यादातर सनबर्न, सनस्ट्रोक जैसी प्राॅब्लम के डर से साल में सात-आठ महीने सन से बचकर ही रहते हैं. इसलिए इसे यूरोप और ठंडे इलाकों के लिए ही छोड़ देते हैं, जिनके लिए डेली सनबाथ जरूरी है. लास्ट के दो दिन खाने—पीने वाले हैं. पहला ईट बींस डे. लोबिया, राजमा, चना जैसे बींस खाइए और शरीर को मजबूत बनाइए. अगर बीच—बीच में टेस्ट चेंज करना हो तो आज ही चॉकलेट वेफर्स डे भी है. खाते—खिलाते रहिए.

थर्सडे, 2 जुलाई
आज का पहला दिन आपको ले जाता है एक रहस्यमयी दुनिया में. यह है वर्ल्ड यूएफओ डे. यूएफओ यानी अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग आॅब्जेक्ट्स, जिन्हें हमारे यहाँ उड़नतश्तरी का नाम दिया गया है, एक ऐसी पहेली हैं, जिसे यकीनी तौर पर कोई नहीं सुलझा पाया है. कुछ लोग इन्हें देखने का दावा करते हैं लेकिन ज्यादातर लोग इनके एग्जिस्टेंस पर बिलीव नहीं करते. आप आज के दिन इनसे जुड़ी कहानियां पढ़कर या फिल्में देखकर इस डे को मना सकते हैं. दूसरा दिन, साॅरी हम भूल गए. डाॅन्ट वरी, यह दिन आपसे पहले हमने मना लिया है. यह है आई फाॅरगाॅट डे. इस दिन भूल जाने की समस्या से ग्रस्त लोग ऐसे लोगों के सामने अपनी इस प्राॅब्लम को एडमिट करते हैं, जो इससे इफेक्टेड हुए हैं. मसलन, आप किसी का बर्थडे भूल जाते हैं, इस दिन आप उसे अपोलोजाइज कर सकते हैं कि आप विश करना भूल गए थे. आज से प्लास्टिक फ्री जुलाई मंथ स्टार्ट हो रहा है. इसका हिस्सा बनिए और अपने एन्वायर्मेंट और धरती की बायोडर्विसिटी को बचाइए. आपको सिर्फ इतना करना है कि प्लास्टिक के चलन में आने से पहले हमारी दुनिया में कौन—कौन सी चीजें इस्तेमाल होती थीं. जैसे पॉलीथिन बैग की जगह पेपर बैग, प्लास्टिक के बाल्टी—मग्घे की जगह लोहे या एल्मुनियम के बर्तन… जितना ज्यादा से ज्यादा चीजें आपको मिल सकती हैं, उन्हें प्लास्टिक के विकल्प के रूप में अपनाइए और इस्तेमाल कीजिए.

वेडनसडे, 1 जुलाई
आज के दिनों में दो तो पोस्टल डिपार्टमेंट को डेडिकेटेड हैं,एक तो है जिप कोड डे जिसे हमारे यहाँ पिनकोड के नाम से जाना जाता है और दूसरा है, पोस्टल वर्कर डे. हालांकि स्नेलमेल के घटते चलन में नई जेनरेशन को इन दोनों की चीजों से कम वास्ता पड़ता है. फिर भी, अगर मुमकिन है तो कुछ फ्लाॅवर वगैरह लेकर पास के किसी पोस्ट आॅफिस में जाइए और उन्हें विश कीजिए, जो सालों से बिना थके आपकी पिछली जेनरेशनों को सर्व करते आए हैं. तीसरा दिन, सेकेंड हाफ आॅफ द ईयर डे है. इस दिन आप एनेलाइज कर सकते हैं कि बीता आधा साल कैसा गुजरा. उसके एक्सपीरिएंस बाकी के आधे साल को बेहतर बनाने में काम आ सकते हैं. अगला दिन  इंटरनेशनल जोक डे है. इस दिन, फ्रेंड्स को इकट्ठा कर कुछ अच्छे जोक्स शेअर कर सकते हैं. मजे को और बढ़ाना हो तो खाने-पीने को शामिल कर सकते हैं, और आज सेलिब्रेट किए जाने वाले क्रिएटिव आइसक्रीम फ्लेवर्स डे और जिंजरस्नैप डे साथ ही मना सकते हैं.

ट्यूजडे, 30 जून
आज का पहला दिन ऐसा है कि जिसे हम सभी तकरीबन हर रोज सेलिब्रेट करते हैं. यह है सोशल मीडिया डे. इसे मैशेबल वेबसाइट ने सात साल पहले लाॅन्च किया था. तब से हर साल इस साइट के मेंबर आज के दिन, रीयल लाइफ मीटअप के लिए कोशिश कर सकते हैं. आप भी कर सकते हैं, नहीं तो कोई सिंपल पोस्ट, मैसेजिंग, कमेंट्स, हैशटैग वगैरह कीजिए और आज का दिन मनाइए. दिन मन जाए तो फिर रात को सेलिब्रेट करने की तैयारी कीजिए, क्योंकि आज ही मीटीअर डे भी है. हालांकि इसे सेलिब्रेट करना आसान नहीं है, क्योंकि एक तो बरसात का मौसम शुरू हो चुका है, आसमान में छाए बादल आपको इन्हें देखने का मौका नहीं देने वाले. और अगर मौका मिल गया तो भी हर मिनट गिरती उल्काओं को देख पाना काफी मुश्किल होता है.

मंडे, 29 जून
आज का पहला दिन अगला दिन काफी इन्टेरिस्टंग और यूनिक है, प्लीज टेक माई चिल्ड्रन टू वर्क डे. इस दिन वर्किंग पैरेंट्स अपने किड्स को अपने आॅफिस या एस्टेब्लिशमेंट ले जाते हैं, ताकि वे उस एटमोस्फेअर से फेमिलिअर हो सकें, जिसमें उनके डीयर माॅम या डैड उनके लिए जी-तोड़ मेहनत करते हैं. वैसे हम आपको यह डे मनाने की राय नहीं देंगे, क्योंकि इन दिनों बच्चों को कहीं भी ले जाना सेफ नहीं है. बाकी के दिन भी सेलिब्रेशन से ज्यादा जानकारी के लिए हैं. इसके अलावा है वैफल आयरन डे. वैफर आयरन से डेवलप यह डिवाइस डिलीसियस डिश बनाने में यूज की जाती रही है. इंटरनेशनल मड डे भी आज ही है. चाहे तो बरसात के मौसम का फायदा उठाकर मिट्टी की खुशबू का मजा ले सकते हैं या फिर मिट्टी को हाथों में लपेटकर उसके स्पर्श का सुख महसूस कर सकते हैं. मिट्टी की सृजनात्मकता और क्योर करने की ताकत को कौन नहीं जानता. आप भी इस बारे में अपनी जानकारी बढ़ाइए. चौथा दिन, कैमरा डे है. मोबाइल कैमरों ने बेशक उनकी पाॅपुलरिटी को सिकोड़ दिया है, लेकिन प्रोफेशनल फोटोग्राफर अभी भी क्वालिटी के मामले में कैमरा पर ही ज्यादा भरोसा करते हैं. लास्ट में है, वर्ल्ड इंडस्ट्रियल डिजाइन डे. हम जो कुछ उत्पाद देखते हैं, यूज करते है, कभी सोचा है कि उनकी डिजाइन में किस साइंस और आर्ट का यूज होता है? पंखा गोल होता है, कूलर चौकोर, टेगल रेक्टेंगेल, चेयर की सीट स्क्वायर शेप… हर प्रॉडक्ट का डिजाइन इस तरह तैयार किया जाता है कि वह न सिर्फ आपको अधिक से अधिक सुविधा व आनंद दे, बल्कि देखने में भी अच्छा लगे. यदि दिन आपको इन डिजाइनों के पीछे का लॉजिक जानने के लिए इन्स्पायर करता है. आप भी जानिए… ज्यादा जानकारी पाने के बाद थकान तो होती ही है… तो क्यों न अब कुछ खा लिया जाए. आमंड बटरक्रंच डे हाजिर है. ग्राॅसरी स्टोर पर जाइए और इसे खाकर दिन को टेस्टी बनाइए.

संडे, 28 जून
वैसे तो आज सात दिन मनाए जाते हैं, जिनमें लॉजिस्टिक्स डे, सेविएशे डे, पाॅल बनयन डे और टैपिओका डे जैसे दिनों के विपरीत अपने काम के जो दिन हैं उनमें पहला है इंश्योरेंस अवेअरनेस डे. आज की अनसर्टेनिटी से भरी लाइफ में इंश्योरेंस प्लान बहुत जरूरी चीज हैं. हेल्थ, व्हीकल, लाइफ और गुड्स इंश्योरेंस जैसे कई आॅप्शन हैं, जिनमें आप अपनी रिक्वायरमेंट के अकाॅर्डिंग चूज कर सकते हैं, लेकिन चूज करने से पहले जो प्लान आॅप्ट कर रहे हैं, उसके बारे में पूरी जानकारी जरूर कर लें. उनका लिटरेचर पढ़ें और सावधान रहें कि आपका एजेंट आपको मिसगाइड तो नहीं कर रहा. अगला दिन, फैशन के दीवानों के लिए है. यह है इंटरनेशनल बाॅडी पिएर्सिंग डे. हालांकि यह एक पाॅपुलर ट्रेंड है, लेकिन इसमें रिस्क भी इन्वाॅल्व्ड है. आप अगर पिएर्सिंग कराना चाहते हैं तो सोचसमझ कर ही कराएं ताकि फैशन आपको महंगा न पडे. तीसरा दिन, लाॅग केबिन डे. सभ्यता के शुरुआती दिनों की यादों को ताजा करता है, जब लोग लकड़ी के लट्ठों को एक दूसरे के ऊपर सेट कर केबिन बनाते थे और उनमें रहकर सर्दी-गर्मी के असर को कम करते थे. आप भी ऐसे किसी केबन को तलाश सकते हैं, शायद कहीं कुछ हिल स्टेशनों पर ये अभी भी मौजूद हों. इसके बाद आता है. – श्वेता अग्रवाल

Filed in: Let's Celebrate

You might like:

हीरोबोट हीरोबोट
पैरानाॅर्मल की जानकारी पैरानाॅर्मल की जानकारी
हर दिन है खास हर दिन है खास
क्वालिटी और  क्वांटिटी क्वालिटी और क्वांटिटी
© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.