सिनेमा से सेक्स

सिनेमा  में सेक्स को लेकर हुई एक इंट्रेस्टिंग स्टडी, जिसमें 1983 से 2003 के बीच रिलीज फिल्मों को इन्क्लूड किया गया था, बताती है कि इनमें से 70पर्सेंट फिल्मों में स्ट्रेंजर्स मिलते हैं और इमीडिएटली सेक्स करने लग जाते हैं. प्रॉब्लम ये नहीं, बल्कि ये है कि ऐसे 98 पर्सेंट सींस में न तो कभी काॅन्ट्रीसेप्टिव्स की नीड का मेंशन होता है और न ही, बाद में इस अनसेफ सेक्स के अनएक्सपेक्टेड रिजल्ट्स का.
इस टाइप की फिल्मों ने एडोलसेंट्स आॅडिएंस पर बैड इफेक्ट्स डाला है. रिसर्चर ने सिक्स इयर तक 1,228 एडोलसेंट एज वाले स्टुडेंट्स से बात की. इनमें से 63 पर्सेंट सेक्स्युअली एक्टिव पाए गए, जिनमें से 85 पर्सेंट ही ऐसे थे, जिन्होंने 16 की एज तक वेट किया. इनमें से मैक्सिमम पार्टिसिपेंट्स फिल्मों से इन्सपायर्ड थे और नेचुरल व अननेचुरल दोनो टाइप की सेक्स्युअल एक्टिविटीज में इनवाॅल्व थे. और इनमें से बहुत कम को सेफ्टी की फिक्र थी.
Filed in: A-zone

You might like:

मिलेंगे एलियंस के सिग्नल मिलेंगे एलियंस के सिग्नल
एवरेस्ट कितना ऊंचा ? एवरेस्ट कितना ऊंचा ?
डिजाइनों की अमेजिंग दुनिया डिजाइनों की अमेजिंग दुनिया
सीक्रेट का शत्रु सेक्स सीक्रेट का शत्रु सेक्स
© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.