अनेक रिकाॅर्ड्स बनेंगे इस फीफा में

87 सालों के फुटबाॅल वर्ल्ड कप और 32 सालों के अंडर -17 वर्ल्ड कप के इतिहास में पहली बार भारत में इसकी मेजबानी होने जा रही है. यह खुद अपने आप में एक रिकाॅर्ड है. लेकिन इस फ्राइडे को इस के आगाज से पहले ही दो और रिकाॅर्ड इसके खाते में जुड़ चुके हैं.

पहला यह कि इसमें फीफा टूर्नामेंट में पहली बार महिलाओं को भी सहायक रैफरी की भूमिका निभाने के लिए नियुक्त सात लोगों में शामिल किया गया है. दूसरा रिकाॅर्ड दो स्टेडियमों के बीच की दूरी का है. दिल्ली के जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम, मडगांव के नेहरु स्टेडियम, नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम और कोलकाता के विवेकानंद युवा भारती क्रीड़ांगन के अलावा और जिन दो स्टेडियमों में फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप खेला जाना है, वे हैं कोच्चि का जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम और गुवाहाटी का इंदिरा गांधी स्टेडियम, जिनके बीच की दूरी 2,431 किलोमीटर है, जो अभी तक की सबसे लंबी दूरी है.

fifa2017_FotoSketcher

देश के छह शहरों में 6 से 28 अक्तूबर तक होने वाले इस मुकाबले में एक और दिलचस्प रिकाॅर्ड बन रहा है, 17 के आंकड़े का… न सिर्फ यह अंडर-17 वर्ल्ड कप है, बल्कि इसका यह 17 वां संस्करण है और यह खेला भी इस सदी के 17 वें साल में जा रहा है यानी 2017 में.

अभी तक मेन, महिला और जूनियर आदि को मिलाकर 87 सालों में फीफा वर्ल्ड कप कें अंतर्गत अभी तक कुल 77 मैच खेले जा चुके हैं. फीफा एग्जीक्यूटिव कमेटी द्वारा भारत को इसकी मेजबानी का जिम्मा 2013 में सौंपा गया था. इसमें छह ग्रुपों में कुल 24 टीमें हिस्सा ले रही हैं. फुटबॉल टेक्स ओवर के स्लोगन के साथ आॅर्गेनाइज होने जा रहे इस फीफा अंडर -17 वर्ल्ड कप का मस्कट मुख्य रुप से हिमालयन रीजन और साउथ-ईस्ट एशिया में पाया जाने वाला ‘खेलियो’ नामक एक चित्तीदार तेंदुआ है.

yes(0)no(0)
Filed in: Sports

You might like:

खतरे में मालदीव…और मुंबई भी खतरे में मालदीव…और मुंबई भी
गेमिंग गुरु: एवरीबाॅडी‘ज गोन टू द रैप्चर गेमिंग गुरु: एवरीबाॅडी‘ज गोन टू द रैप्चर
ताली बजाएं, फोन पाएं : क्लैप टू फाइंड ताली बजाएं, फोन पाएं : क्लैप टू फाइंड
तरह-तरह के इल्यूजन तरह-तरह के इल्यूजन
© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.