List/Grid Knowledge Next Subscribe RSS feed of category Knowledge Next

गेंहू हो जाएगा गायब!

गेंहू हो जाएगा गायब!

कांसास स्टेट विश्वविद्यालय में  हुए एक अध्ययन में चेतावनी दी गई है कि यदि आवश्यक कदम न उठाए गए तो आगामी दशकों में क्लाइमेट चेंज के कारण मौसम का बिगड़ता… Read more »

रोबो बेबी एफेट्टो

रोबो बेबी एफेट्टो

लंबे समय से दुनिया के वैज्ञानिक फीलिंग और एक्सप्रेशन वाले रोबोट बनाने के लिए काम कर रहे हैं. जापान के वैज्ञानिकों ने एक मानवीय भावनाओं से युक्त एक ऐसा रोबोट… Read more »

मून के बदले रिंग

मून के बदले रिंग

मार्स के डेईमोस और फोबोस मून्स यानी सेटेलाइट्स में से बड़ा, फोबोस अपनी एग्जिस्टेंस के आखिरी दौर में आ पहुँचा है. वह धीरे-धीरे अपनी मौत की तरफ बढ़ रहा है… Read more »

गुम होती भाषाएं

गुम होती भाषाएं

इस बहुरंगी संसार को विविधता देने वाली अनेक चीजों में एक है हमारी भाषा. लेकिन, ग्लोबलाइजेशन और मार्केटप्रधान संस्कृति के प्रभुत्व ने हमारी भाषाई विविधता को बहुत क्षति पहुंचाई है…. Read more »

ब्रेनटॉप के लिए रेडी हैं?

ब्रेनटॉप के लिए रेडी हैं?

डेस्कटाॅप डेस्क आॅक्यूपाई करता है, लैपटाॅप लैप और पामटाॅप पाम…ऐस में ब्रेन टाॅप क्या गुल खिलाएगा, अंदाजा लगाना कोई मुश्किल काम नहीं है. साइंटिस्ट्स ने एक ऐसा ह्यूमन टू ह्यूमन… Read more »

Earth hour

Earth hour

From TV to refrigerator, cooler to geyser, PC to AC, Gadgets to smart phone, transportation to production … every time we find a need of electricity and use it without… Read more »

फाइट कोरोना, विद रोबोट

फाइट कोरोना, विद रोबोट

ऐसे वक्त में जब दुनिया का हर इंसान कोरोना नामक विषाणु से डरा हुआ है, इससे मुकाबले के लिए अलग-अलग जगहों पर, अलग-अलग तरीके से रोबोट्स के इस्तेमाल की खबरें… Read more »

आईस एज में बदल जाएगा इंसान

आईस एज में बदल जाएगा इंसान

क्लाइमेंट चेंज का असर धीरे-धीरे इंसानों के आकार पर भी पड़ेगा, और जिस शरीर के परफेक्शन पर वह घमंड से भरा रहता है, वह नया रूप ले लेगा. केंट यूनिवर्सिटी… Read more »

620 साल चलेगी लाॅन्गेस्ट म्यूजिक परफाॅर्मेंस

620 साल चलेगी लाॅन्गेस्ट म्यूजिक परफाॅर्मेंस

हालबर्स्टेडट, जर्मनी के चर्च आॅफ सेंट बर्कर्डी में 5 सितंबर 2001 को स्टार्ट हुई जाॅन केज के आॅरगन/एएसएलएसपी (एज स्लो एज पाॅसिबल) की परफाॅर्मेंस अभी 620 साल और यानी वर्ष… Read more »

जुपिटर पर जीवन की तलाश

जुपिटर पर जीवन की तलाश

हमारे सोलर सिस्टम में अर्थ के बाद अगर किसी प्लेनेट पर जीने के लिए सबसे उपयुक्त परिस्थितियां पाए जाने की उम्मीद की जाती है तो वह है, जुपिटर यानी बृहस्पति… Read more »

दुनिया इंसानों के बिना.. .

दुनिया इंसानों के बिना.. .

अक्सर हम मनुष्य को अपने मानव होने पर बहुत गर्व होता है. यहाँ तक कि हम स्वयं को प्रकृति की सर्वश्रेष्ठ रचना कहने से भी नहीं चूकते. लेकिन, वास्तविकता यह है… Read more »

कोई न भूखा जाए…

कोई न भूखा जाए…

ये है सरिता कश्यप पिछले 20 साल से अकेली महिला (सिंगल मदर) है, एक बेटी है जो कालेज में पढ़ती है, ये घर खर्चे के लिए पीरागढ़ी मे सीएनजी पंप… Read more »

© A touch of tomorrow !. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by Theme Junkie.